सर्वनाम

सर्वनाम संज्ञा के स्‍थान पर जो शब्‍द प्रयोग किये जाते है, उसे सर्वनाम कहा जाता है 

जैसे- मै, तुम,वह, हम ,आप, वे आदि।

उदाहरण- वह खेलता है।

  तुम कहॉ जा रहे हो। 

सर्वनाम के प्रकार- सर्वनाम के कुल 6 प्रकार होते है-

1- पुरूषवाचक सर्वनाम

2- निश्‍चयवाचक सर्वनाम

3- अनिश्‍चयवाचक सर्वनाम

4- संबंधवाचक सर्वनाम

5- प्रश्‍नवाचक सर्वनाम

6- निजवाचक सर्वनाम

1- पुरूषवाचक सर्वनाम- जो शब्‍द पुरूषों के नाम (स्‍त्री एवं पुरूष दोनों ) के बदले प्रयुक्‍त होते है, उसे पुरूषवाचक सर्वनाम कहते है।

उदाहरण- मै, हम, तुम, आप, तुमको, तुमसे, आपने, आपको, उन, उनको आदि

पुरूषवाचक सर्वनाम के 3 प्रकार होते है-

उत्‍तम पुरूष- बात कहने वाले यानि की वाक्‍य में जो वक्‍ता है उसे उत्‍तम पुरूष कहते है जैसे – मैं, हमउदाहरण-  मैं पढ़ने जा रहा हॅू। हम मैच देखने जा रहे है।

मध्‍यम पुरूष- जिससे बात कही जाये यानि की जो श्रोता है उसे मध्‍यम पुरूष कहते है। जैसे- तुम , आप

उदाहरण-  तुम कहॉ जा रहे हो।

      आप कैसे है।

अन्‍य पुरूष- जिसके सम्‍बन्‍ध में बात कही गयी हो वो अन्‍य पुरूष कहलाता है। जैसे- वह, वे आदि। उदाहरण-  वे लोग चले गये

        वह खाना खा रहा है।

2- निश्‍यचवाचक सर्वनाम- जिस सर्वनाम से किसी निश्चित वस्‍तु का बोध होता है, उसे निश्‍चयवाचक सर्वनाम कहते है।

नोट- इसकी पहचान दूर और पास के तौर पर भी कर सकते है।

जैसे- वह, यह

उदाहरण- यह मेज है। वह एक पेड़ है।

3-अनिश्‍चयवाचक सर्वनाम- जिस सर्वनाम से किसी वस्‍तु का निश्चित बोध नही होता है, उसे अनिश्‍चयवाचक सर्वनाम कहते है। जैसे- कोई, कुछ, किसका, किसी को आदि।

उदाहरण- किसी को बुलाओं।

        दूध में कुछ मिला है।

4- सम्‍बन्‍धवाचक सर्वनाम- जिस सर्वनाम से दो वस्‍तुओं अथवा व्‍यक्तियों का पारस्‍परिक सम्‍बन्‍ध प्रकट होता है, उसे सम्‍बन्‍धवाचक सर्वनाम कहते है। जैसे- जो,

उदाहरण- जो बोओगे सो काटोगे। 

जो तुम चाहो, करो।

वह लड़का जो कल आया था, पढ़ने में बहुत तेज है।

5- प्रश्‍नवाचक सर्वनाम- जिस सर्वनाम से प्रश्‍न का बोध होता है, उसे प्रशनवाचक सर्वनाम कहते है। जैसे- कौन, क्‍यों, क्‍या, कैसे।

उदाहरण- तुम कैसे आये।

वह क्‍या चाहता है।

वह क्‍या कर रहा है।

6-निजवाचक सर्वनाम- जिस सर्वनाम से कर्ता का बोध हो,उसे निजवाचक सर्वनाम कहते है।

जैसे- आपउदाहरण- आप जैसा समझे, करे।

उन्‍होनें मुझे रहने को कहा और आप चलते बने।

10 thoughts on “सर्वनाम”

  1. Woah! I’m really enjoying the template/theme of this blog. It’s simple, yet effective. A lot of times it’s hard to get that “perfect balance” between usability and appearance. I must say that you’ve done a great job with this. In addition, the blog loads extremely fast for me on Firefox. Superb Blog!

  2. Normally I don’t learn post on blogs, but I wish to say that this write-up very compelled me to take a look at and do it! Your writing style has been amazed me. Thanks, very great post.

  3. Yesterday, while I was at work, my cousin stole my iPad and tested to see if it can survive a 40 foot drop, just so she can be a youtube sensation. My apple ipad is now destroyed and she has 83 views. I know this is completely off topic but I had to share it with someone!

  4. you’re really a good webmaster. The web site loading speed is amazing. It seems that you’re doing any unique trick. Furthermore, The contents are masterwork. you have done a great job on this topic!

  5. Знаете ли вы?
    Бывший министр финансов удостоился высшей государственной награды за распространение знаний о психических расстройствах.
    Российских легкоалетов могут сурово наказать за действия чиновников от спорта.
    Искусствоведы спорили, смирилась ли со скорой смертью неизлечимо больная женщина на картине русского художника, а она прожила ещё 37 лет.
    Новый вид пауков-скакунов был назван по имени писателя в честь юбилея его самой известной книги о гусенице.
    Картина парада Победы, где руководство страны смещено на задний план, получила Сталинскую премию.

    arbeca.net

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *